एलेक्सा रैंकिंग और हिंदी ब्लॉग्स

Posted on
  • by
  • Shah Nawaz
  • in
  • Labels: ,
  • एलेक्सा रैंकिंग विश्व में वेबसाइट की रैंकिंग में सबसे बेहतर मानी जाती है। इसकी शुरुआत 1996 में हुई थी तथा इसका संचालन अमेज़न.कॉम के द्वारा किया जाता है।एलेक्सा किसी भी ब्लॉग / साईट की ना केवल विश्व रैंकिंग दिखता है बल्कि साथ ही साथ क्षेत्रीय रैंकिंग भी दिखाता है। यह रैंकिंग ना केवल इस बात पर निर्भर करती है कि किस साईट / ब्लॉग पर कितने लोगो ने विज़िट किया, बल्कि यह भी देखा जाता है कि विज़िटर / पाठक कहाँ से आया था, कितनी देर तक साईट / ब्लॉग पर रुका, कितने पृष्ठ खोले इत्यादि। लेकिन यह सर्च इंजिन बोट के हिट्स की गिनती नहीं करता है। इसके साथ-साथ रैंकिंग पर अच्छे साईट लिंक का भी प्रभाव पढता है, अर्थात आपके ब्लॉग / साईट का लिंक कितनी अच्छी रैंकिंग वाली साइट्स / ब्लॉग्स में साझा है!

    साथ ही आप इसके द्वारा अपने पाठकों के प्रवाह को भी जांच सकते हैं, अर्थात किस महीने / सप्ताह / दिन में पाठकों का प्रवाह कैसा रहा।हालाँकि सप्ताह दर सप्ताह की जानकारी केवल एक लाख से नीचे की रैंकिंग वाले ब्लॉग / साईट को ही दी जाती है, इसी तरह हर दिन की जानकारी 10,000  सी नीचे की रैंकिंग वाले ब्लॉग / साईट को ही उपलब्ध कराई जाती है।

    एलेक्सा के मुख्य प्रष्ट पर 3 माह की रैंकिंग दर्शाई जाती है तथा "Get Details" पर क्लिक करने पर आप इस रैंकिंग को पिछले महीने / सप्ताह / दिन इत्यादि के साथ जाँच सकते हैं। इस पृष्ठ पर रैंकिंग के साथ-साथ ब्लॉग / साईट के पाठकों का विश्व के पाठकों की तुलना में अनुपात, उनके द्वारा खोले गए पृष्ठ, हर पाठक द्वारा खोले गए पृष्ठ का प्रतिशत, कितने पाठक पहले ही पृष्ठ से वापस चले गए, पाठक कितनी देर ब्लॉग / साईट पर ठहरे तथा कितने पाठक सर्च इंजन से आये जैसे आंकड़े उपलब्ध होते हैं।इसके अलावा आप अपने ब्लॉग / साईट के आंकड़ों की दुसरे ब्लॉग / साईट के साथ तुलना भी कर सकते हैं।

    उसके नीचे आपके ब्लॉग / साईट को खुलने में औसत समय तथा क्षेत्रीय रैंकिंग को दर्शाया जाता है, साथ ही आपके ब्लॉग / साईट के पाठकों के बारे में बताने की कोशिश की जाती है तथा आपके ब्लॉग / साईट को किस-किस कीवर्ड (Keyword) के द्वारा खोजा जाता है, इसकी भी जानकारी दी जाती है। एलेक्सा पर इसके अलावा और भी बहुत से बेहतरीन फीचर्स हैं, आप स्वयं भी इसकी जांच करके देखिये।




    विश्व की टॉप रैंक वाली कुछ साईट हैं:


    गूगलरैंक 1
    फेसबुकरैंक 2
    यु ट्यूबरैंक 3
    याहू रैंक 4
    ब्लॉगर रैंक 5
    बैदू (baidu.com)रैंक 6
    विकीपीडिया रैंक 7
    विंडो लाइव रैंक 8
    ट्विटररैंक 9
    QQ.comरैंक 10
    MSN.com रैंक 11
    गूगल इंडिया रैंक 15
    लिंकेडीन रैंक 16
    अमेज़नरैंक 17
    वर्डप्रेसरैंक 18


    अब कोशिश करता हूँ 6 लाख तक की रैंकिंग वाले कुछ ब्लॉग्स की विश्व तथा भारतीय औसत एलेक्सा रैंकिंग (3 माह) से रु-बरु करवाने की, इनमें कुछ सामूहिक ब्लॉग्स भी शामिल हैं। (समय के साथ इसमें परिवार्तान आ सकता है)




    ब्लॉग्स (विश्व रैंकिंग)(भारतीय रैंकिंग)
    1.

    हिन्दयुग्म

    303,92832,039
    2.

     नुक्कड़

    314,86228,755
    3.

    महाजाल357,68029,677
    4.

    ZEAL358,33144,540
    5.

    देशनामा374,34638,614
    6.

    तस्लीम384,18740,379

    7.

    परिकल्पना

    408,49344,606

    8.जनोक्ति

    424,43339,105
    9.

    हिंदी टेक ब्लॉग426,60341,593
    10.

     नज़रिया

    466,65967,124
    11.

    छींटें और बौछारें507,63842,542
    12.

    ज्ञान दर्पण519,24445,954
    13.

    प्रेम रस

    547,60560,725
    14.

    क़स्‍बा 572,39851,459

    इस सूचि को बनाने के लिए मैंने तक़रीबन 100-125 हिंदी ब्लॉग्स की रैंकिंग की जाँच की है। अगर भूलवश आपका ब्लॉग इसमें आने से छूट गया है तो कृपया सूचित कर दें, उसे भी शामिल कर दिया जाएगा।


    Keyword: alexa ranking, hindi blog sites

    21 comments:

    1. शाहनवाज़,
      बधाई...बड़ी रिसर्च से आंकड़े निकाले हैं...एलेक्सा रैंकिंग की विश्वसनीयता बेजोड़ हैं...इस रैंकिंग को रेगुलर फीचर बनाने की कोशिश की जानी चाहिए...जिससे टाइम टू टाइम अपनी स्थिति का पता चलता रहे...

      जय हिंद...

      ReplyDelete
    2. बढ़िया जानकारी दी भाई ... आभार !

      ReplyDelete
    3. आपकी मेहनत को सलाम...
      नीरज

      ReplyDelete
    4. कमाल का लेख लिखा है शाहनवाज़ भाई ! मेरा अनुरोध है कि ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे बढ़ता है और क्या करना चाहिए ? यह जानकारी बहुतों को पता ही नहीं है !

      अगर श्रंखलाबद्ध तरीके से इसे प्रकाशित करें तो बड़ा भला हो !

      आभार आपका !

      ReplyDelete
    5. शाहनवाज जी
      मेरे ब्लॉग को भी जांचने और इस सूची में शामिल करने के लिए धन्यवाद् .

      ReplyDelete
    6. आपकी उम्दा प्रस्तुति कल शनिवार (28.05.2011) को "चर्चा मंच" पर प्रस्तुत की गयी है।आप आये और आकर अपने विचारों से हमे अवगत कराये......"ॐ साई राम" at http://charchamanch.blogspot.com/
      चर्चाकार:Er. सत्यम शिवम (शनिवासरीय चर्चा)

      ReplyDelete
    7. पहले भी इस के बारे जानकारियां आ चुकी हे, मन को बहलाने के लिये अच्छा ख्याल हे, धन्यवाद

      ReplyDelete
    8. badhiya jaankari...
      satish ji ki baat par bhi gaur karna ji...

      kunwar ji,

      ReplyDelete
    9. सतीश जी / हरदीप भाई
      कोशिश करूँगा इस पर एक लेख लिखने की.


      राज भाटिया जी,
      :-) वैसे तो ब्लोगिंग है ही मन को बहलाने को... चलिए इस बहाने ही सही, मन तो बहल ही जाएगा... :-) :-) :-)

      ReplyDelete
    10. एलेक्सा पर मेरा ब्लाग
      http://kajalkumarcartoons.blogspot.com/ कुछ यूं दिखा रहा है:-
      Alexa Traffic Rank: 707,721
      Traffic Rank in IN: 101,078
      लगता है कहीं कुछ गड़बड़ है :)

      ReplyDelete
    11. कमाल का लेख लिखा है शाहनवाज़ भाई !
      http://ahsaskiparten.blogspot.com/2011/05/dr-anwer-jamal.html

      ReplyDelete
    12. एलेक्सारेंकिंग के बारे में उपयोगी जानकारी दी है आपने । कृपया इस पर सविस्तार ऐसी पोस्ट भी बनावे जिसके आधार पर सभी ब्लागर बंधु अपने ब्लाग की लोकप्रियता बढवाने का प्रयास कर सकें ।
      वैसे म्रेरे नजरिया ब्लाग की सुखद स्थिति जानकर अच्छा लगा । आभार सहित...

      ReplyDelete
    13. सुशील जी,

      अभी सतीश जी और हरदीप भाई ने भी इसी तरह का आग्रह किया था... मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करूँगा इस पर एक लेख लिखने की, कुछ-छोटी-छोटी बातें ज़रूर है जिसे ध्यान में रखे जाने की आवश्यकता है, जिसमें से एक यह भी है की ब्लॉग अथवा साईट सर्च इंजिन फ्रेंडली होनी चाहिए... इस पर और विस्तार से रौशनी डालने की कोशिश करूँगा.

      ReplyDelete
    14. @ Kajal Kumar

      काजल भाई,

      एलेक्सा पर आपके ब्लॉग की रैंकिंग बिलकुल ठीक देखाई दे रही है... अलेक्सा के हिसाब से विश्व में आपके ब्लॉग का 707,721 वा नंबर तथा भारत में 101,078 वा नंबर है.

      ReplyDelete
    15. रोचक और उपयोगी, धन्यवाद शाहनवाज़

      ReplyDelete
    16. यह जानकारी बहुत उपयोगी है, खासकर उनके लिए जो हिंदी चिट्ठों की दुनिया में नए हैं, मेरी तरह. मैं इसी तरह की जानकारी की तलाश में थी. आपके शोध और समीक्षा के लिए धन्यवाद.

      ReplyDelete

     
    Copyright (c) 2010. प्रेमरस All Rights Reserved.