दीपावली का आया है त्यौहार शब-ओ-रोज़

Posted on
  • by
  • Shah Nawaz
  • in
  • Labels: , , , ,

  • दीपों के त्यौहार दीपावली पर हमारा पूरा शहर कई दिन पहले से फिजा में खुशियों के रंग बिखेरने शुरू कर देता है, हफ़्तों पहले से शहर की रातें जगमगाना शुरू कर देती हैं और खुशियों का माहौल दीपावली के कई दिन बाद तक चलता रहता है, खुदा से दुआ है कि मेरे मुल्क में इसी तरह खुशियाँ और भाई चारा फलता फूलता रहे... अमीन!

    इसी दुआ के साथ आप सभी को दीपवाली की हार्दिक शुभकामनाएँ!


    अमनों-ख़ुशी का छाया है ख़ुमार शब-ओ-रोज
    दीपावली का आया है त्यौहार शब-ओ-रोज़ 

    कंदीलों की झुमकियाँ भी झूमती है बार-बार
    हर एक शय पे आया है निखार शब-ओ-रोज़

    हर कूचा-ए-गली में रौनकों की है बहार
    हर दिल को आज आया है करार शब-ओ-रोज़

    मस्ती की रवानी है शब-ओ-रोज़ मुल्क में
    खुशियों का ऐसे आया है बुखार शब-ओ-रोज

    - शाहनवाज़ 'साहिल'





    Keywords: diwali, dipawali, happy, happiness, indian festival

    20 comments:

    1. आई है दिवाली देखो संग लायी है खुशियाँ देखो.
      यहाँ, वहां, जहाँ देखो
      आज दीप जगमगाते देखो!
      शुभ दीपावली!

      ReplyDelete
    2. आपको सपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएँ!

      सादर

      ReplyDelete
    3. वाह!
      आपको भी दीप पर्व की ढेर सारी शुभकामनाएं।

      ReplyDelete
    4. बधाई....आपके विचार प्रेरक हैं....

      ReplyDelete
    5. खूबसूरत रचना........आपको दिवाली की शुभकामनाएं.....दिवाली की रोशनी से आपका जीवन और परिवार रोशन होता रहे....

      ReplyDelete
    6. बहुत बढिया ..
      .. आपको भी दीपपर्व की शुभकामनाएं !!

      ReplyDelete
    7. दिवाली की शुभकामनाएं..

      ReplyDelete
    8. दीपावली पर शुभकामनायें स्वीकार करें !
      सादर !

      ReplyDelete
    9. सुंदर प्रस्‍तुति।
      दीप पर्व की आपको और आपके परिवार को शुभकामनाएं...

      ReplyDelete
    10. दीपावली पर हार्दिक शुभकामनाएँ!

      ReplyDelete
    11. आपको सपरिवार दीपावली की शुभकामनाएं॥

      ReplyDelete
    12. कल 28/10/2011 को आपकी यह पोस्ट नयी पुरानी हलचल पर लिंक की जा रही हैं.आपके सुझावों का स्वागत है .
      धन्यवाद!

      ReplyDelete
    13. दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ आपको भी....

      ReplyDelete
    14. प्रिय भाई शाहनवाज़ जी
      इतनी सुंदर रचना के लिए बहुत बहुत बधाई !

      प्रशंसा के लिए पर्याप्त उपयुक्त शब्द नहीं मिल रहे …

      हार्दिक मंगलकामनाएं !

      ReplyDelete
    15. **************************************
      *****************************
      * आप सबको दीवाली की रामराम !*
      *~* भाईदूज की बधाई और मंगलकामनाएं !*~*

      - राजेन्द्र स्वर्णकार
      *****************************
      **************************************

      ReplyDelete
    16. *******************************************************************
      # आप में से कोई मेरी मदद कर सकें तो बहुत आभारी रहूंगा
      मेरे दोनों ब्लॉग कल दोपहर बाद से गायब हैं

      शस्वरं


      ओळ्यूं मरुधर देश री


      लिंक :-
      shabdswarrang.blogspot.com
      rajasthaniraj.blogspot.com


      - राजेन्द्र स्वर्णकार
      *****************************************************************

      ReplyDelete
    17. सुंदर प्रस्‍तुति!

      ReplyDelete
    18. वाह ...बहुत खूब लिखा है आपने ।

      ReplyDelete
    19. देर से ही सही मेरी भी शुभकामनायें स्वीकार करें बधाई\ रचना बहुत अच्च्ही लगी।

      ReplyDelete

     
    Copyright (c) 2010. प्रेमरस All Rights Reserved.