ब्लॉगर बिरादरी और उड़न तश्तरी

Posted on
  • by
  • Shah Nawaz
  • in
  • Labels:
  • दिल्ली में दिखाई दे रहा हर ओर उजाला है
    इक मायावी तश्तरी ने यहाँ पहरा डाला है

    हर ओर बेकरारी है, दीदार-ए-यार की
    आंसू वोह गिर रहे हैं, जिन्हें अब तक संभाला है

    अंतरजाल पर होते थे हर रोज़ जिसके दर्शन
    महबूब-ए-ब्लोग्गिं रु-बरु, बस होने वाला है

    दिल्ली के एक नुक्कड़ पर, नुक्कड़ का है आयोजन
    सारी ब्लॉगर बिरादरी को, न्यौता दे डाला है

    क्या अजब बिरादरी है, ना कोई हिन्दू ना मुसलमाँ
    खुशियों में झूमने का यह अवसर निकाला है



    हिंदी संसार एवं नुक्कड़ के द्वारा आयोजित हिंदी ब्लॉग विमर्श का आयोजन स्थल है:
    दीवान चंद ट्रस्ट, 2, जैन मंदिर रोड, शिवाजी स्टेडियम के सामने, कनाट प्लेस, नई दिल्ली 
    समय: अपराह्न 3.00 बजे से 5 .00 बजे तक, शनिवार, दिनांक 13 नवम्बर, 2010

    अधिक जानकारी के लिए यहाँ चटका लगाएँ!



     - शाहनवाज़ सिद्दीकी



    Keywords: ब्लॉगर मिलन, blogger meet

    16 comments:

    1. यह निमंत्रण बहुत जोर दार रहा ....

      ReplyDelete
    2. सारी ब्लॉगर बिरादरी को, न्यौता दे डाला है
      सूचना पहले मिली होती तो हम भी आ जाते।

      ReplyDelete
    3. अंदाजे निमंत्रण आपका
      स्वीकार कर रहा हूँ

      ReplyDelete
    4. धन्यवाद संगीता जी और वर्मा जी

      ReplyDelete
    5. @ संजय भास्कर

      संजय भाई, अभी कहाँ देर हुई है? अभी तो कल मैं बहुत समय बाकी है. हम से पूछो एक-एक पल कितना लम्बा लग रहा है!

      ReplyDelete
    6. सुन्दर प्रस्तुति .

      ReplyDelete
    7. एक टिकेट मुझे चाहिए !!

      ReplyDelete
    8. ... bahut sundar ... badhaai va shubhakaamanaayen !!!

      ReplyDelete
    9. आयोजन की अभूतपूर्व सफलता के लिए अग्रिम शुभकामनाएं.

      नीरज

      ReplyDelete
    10. ईद के पाक मौके पर मैं आपको व आपके परिवार को हार्दिक शुभकामनायें देता हूँ !

      ReplyDelete
    11. शीर्ष ब्लॉगरों में समीरलाल जी अकेले हैं,जो सभी ब्लॉगों पर जाते रहे हैं। उन्हें सुनना सभी सहभागियों के लिए अच्छा अवसर रहा होगा।

      ReplyDelete
    12. यह निमंत्रण का स्टाईल जोरदार रहा...मजा आया सबसे मिलकर.

      ReplyDelete
    13. maza aa gaya bhai wah!!!!haj se aate hi pahonch rahi hun

      ReplyDelete

     
    Copyright (c) 2010. प्रेमरस All Rights Reserved.